what are mutual funds

What are Mutual Fund and how to invest in mutual fund? ||म्यूच्यूअल फंड क्या होते हैं और म्यूचल फंड में कैसे इन्वेस्ट करें||

What Are Mutual Funds

शेयर मार्केट और Mutual Funds एक ही सिक्के के दो पहलू होते हैं जैसे एक तरह से तो हम स्टॉक मार्केट में खुद से शेयर को खरीद/बेच कर पैसा कमा सकते हैं या लंबी अवधि के लिए इन्वेस्टिंग करके पैसा कमा सकते हैं, लेकिन यहां पर हमें किसी भी शेयर को खरीदने से पहले जो एनालिसिस करने की ज़रुरत होती है वह खुद ही करनी पड़ेगी| और इसी प्रकार सिक्के का दूसरा पहलू होता है म्यूच्यूअल-फंड! म्यूच्यूअल फंड के द्वारा भी पैसा स्टॉक मार्केट में ही इन्वेस्ट किया जाता है लेकिन यहां पर कोई व्यक्ति, व्यक्तिगत रूप से किसी शेयर में ट्रेडिंग नहीं करता है बल्कि यहां पर बड़े-बड़े फंड मैनेजर, एनालिस्ट और उच्च योग्यता प्राप्त व्यक्तियों का समूह होता है| Mutual Funds (म्यूच्यूअल फंड) इसलिए बनाए जाते हैं क्योंकि हर कोई इंसान खुद से ट्रेडिंग करके शेयर मार्केट में पैसा इन्वेस्ट नहीं कर सकता क्योंकि कुछ लोगों के पास शिक्षा की कमी होती है और कुछ लोगों के पास समय की कमी होती है जिसके कारण लोग इस बात का अंदाजा नहीं लगा पते हैं कि कौन से शेयर में पैसा लगाना चाहिए और कौन से शेयर में नहीं| कुछ लोगों के पास इतना ज्यादा पैसा भी नहीं होता है कि किसी कंपनी के ज्यादा शेयर खरीद सकें इसलिए म्यूचुअल फंड में जो बड़े-बड़े फंड मैनेजर और शिक्षित लोग होते हैं वह खुद का एक समूह बनाकर किसी एक पर्टिकुलर नाम से म्यूच्यूअल फंड स्टार्ट करते हैं और लोगों का पैसा सही कंपनियों में इन्वेस्ट करते हैं|

यहां पर आम जनता और उपभोक्ताओं के लिए यह सुविधा रहती है कि, कोई भी व्यक्ति कितने भी कम से कम रुपए प्रतिमाह देकर भी शेयर मार्केट में अपना पैसा इन्वेस्ट कर सकता है| Mutual Fund में आप ₹500, 1000 रुपए या उससे अधिक जितना भी आपका बजट हो इन्वेस्ट कर सकते हैं| यहां पर जोखिम की संभावना बहुत कम होती है Mutual Fund का ऑर्गेनाइजेशन जनता से पैसा इकट्ठा करके किसी ऐसी कंपनी के शेयर में लगाता है जिसमें भविष्य में अधिक रिटर्न मिलने की संभावना हो और ज्यादातर म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट किया गया पैसा हमारे लिए लाभप्रद ही सिद्ध होता है| अगर आप भी संयमशील व्यक्ति हैं और भविष्य के लिए पैसा इन्वेस्ट करना चाहते हैं तो आपको भी म्यूचुअल फंड में जरूर अपना पैसे इन्वेस्ट करना चाहिए क्योंकि यहां पर जोखिम की संभावना ना के बराबर होती है और आपका कंपनी में एनालिसिस करने का समय भी बच जाता है तथा आपको रिटर्न भी अच्छे मिल जाते हैं| इसके अलावा म्यूचुअल फंड में अपना पैसा इन्वेस्ट करने के और भी अन्य फायदे होते हैं जैसे-

Professional management (पेशेवर प्रबंधन)

 Mutual Funds चलाने वाली संस्था में जो व्यक्ति होते हैं वह सभी अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ होते हैं शेयर मार्केट में पैसा इन्वेस्ट करने के लिए सबसे बड़ी चुनौती यह होती है कि अच्छे शेयर का चुनाव कैसे किया जाए लेकिन अगर हम म्यूचल फंड में पैसा लगाते हैं तो यहां पर हमें खुद से शेयर का चुनाव करने की आवश्यकता नहीं है म्यूच्यूअल फंड संस्था के फंड मैनेजर, एनालिस्ट और सभी विशेषक मिलकर सबसे अच्छा रिटर्न देने वाली कंपनी का चुनाव करते हैं इसीलिए यहां पर हमारा पैसा सुरक्षित रहता है

Affordable Portfolio Distributor (सस्ती पोर्टफोलियो वितरक)

शेयर मार्केट में अच्छा रिटर्न कमाने के लिए हमें अच्छी कंपनियों का चुनाव करके ज्यादा से ज्यादा कंपनियों में ज्यादा पैसा इन्वेस्ट करना पड़ता है लेकिन किसी आम आदमी के लिए व्यक्तिगत रूप से अधिक कंपनियों में ज्यादा पैसा लगाना संभव नहीं होता है इसलिए यहां पर Mutual Fund में हमें यह सुविधा मिलती है कि हम ₹500 या उससे अधिक कितने भी पैसे म्यूचुअल फंड में लगा सकते हैं और म्यूचुअल फंड संस्था हमारे पैसे को एकत्रित करके अच्छी कंपनियों के शेयर का चुनाव करके उन्हें शेयर मार्केट में  लगाती है और इससे हमें अधिक रिटर्न मिलने की संभावना बढ़ जाती है|

Economic of scale (अर्थव्यवस्था का माप)

म्यूचुअल फंड में पैसा लगाते समय कोई भी व्यक्ति इस बात से बाधित नहीं होता है कि म्यूचुअल फंड में बहुत ज्यादा पैसा ही लगाया जाएगा, Mutual Fund  संस्था आपको यह सुविधा देती है कि जब आपके पास कम पैसे हो तो आप कम पैसे से ही अपनी इन्वेस्टमेंट शुरू कर सकते हैं और जब आपके पास ज्यादा पैसे हो जाए तो आप अपने इन्वेस्टमेंट की राशि को बढ़ा भी सकते हैं|

Liquidity (पैसे की तरलता)

जब कभी भी आप अपना पैसा इंश्योरेंस कंपनी के माध्यम से इन्वेस्ट करते हैं तो आप इंश्योरेंस कंपनी के द्वारा बनाई गई कुछ वर्षों की स्कीम की वजह से बाधित रहते हैं क्योंकि इंश्योरेंस कंपनी में इन्वेस्ट करने का फायदा तब ही मिलता है जब इंश्योरेंस कंपनी की पॉलिसी की समय सीमा पूरी हो जाती है यहां पर आप अपनी मर्जी से बीच में पैसा नहीं निकाल सकते और अगर निकालते हैं तो आपको उस पर कोई रिटर्न नहीं मिलता है लेकिन म्यूच्यूअल फंड या शेयर मार्केट में आपको यह सुविधा मिलती है कि जब कभी भी आपको अपने  पैसे की जरूरत हो तो आप अपना पैसा म्यूच्यूअल फंड कंपनी से निकाल सकते हैं और उस समय पर जिस शेयर में आपने पैसा लगाया है उसका दाम चल रहा होगा उसी के हिसाब से आपको आपका पैसा दे दिया जाता है|

Tax delivered (कर स्थानांतरण)

अपनी इनकम के पैसे में से जो आप पैसा इन्वेस्टमेंट के लिए म्यूचुअल फंड में लगाते हैं उस पर आपको कुछ स्थिति में इनकम टैक्स में छूट मिल जाती है इसलिए और कहीं इन्वेस्ट करने से ज्यादा अच्छा है कि अपना पैसा Mutual Fund के जरिए इन्वेस्ट किया जाए और टैक्स में छूट प्राप्त की जाए|

Convenient option (सुविधाजनक विकल्प)

म्यूचुअल फंड में पैसा इन्वेस्ट करने से हमें अनेक सुविधाएं मिलती है जैसे यहां पर हम अपने द्वारा निवेश की गई राशि का स्वामित्व अपने पास ही रखते हैं अगर हमें कभी अपना पैसा निकालने की आवश्यकता पड़ गई तो उस स्थिति में हम उस इन्वेस्टमेंट में से पूरी राशि ना निकालकर कुछ राशि भी निकाल सकते हैं और बाकी पैसे से हमारा इन्वेस्टमेंट Mutual Fund में जारी रहता है|

Investment comfort (निवेश का आराम)

म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट करने के लिए बहुत ज्यादा डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन की आवश्यकता भी नहीं पड़ती है किसी म्यूचल फंड में निवेश जारी करने के लिए हम आधार कार्ड, पैन कार्ड, फोटो, बैंकखाते की फोटो कॉपी देकर मात्र 1 दिन में अपना इन्वेस्टमेंट शुरू कर सकते हैं |

Regulatory comfort (नियामक आराम)

 म्यूच्यूअल फंड इन्वेस्टमेंट संस्था SEBI के बनाए हुए नियमों और कानून के आधार पर कार्य करती है इसलिए हम म्यूच्यूअल फंड में पूर्ण विश्वास के साथ इन्वेस्टमेंट शुरू कर सकते हैं यहां पर जोखिम की संभावना ना के बराबर रहती है|

Systematic Approach To Invest (निवेश के लिए व्यवस्थित दृष्टिकोण)

जब आप अपना पैसा इन्वेस्ट करते हैं तो अच्छे रिटर्न प्राप्त करने के लिए आपको लगातार अपना पैसा Mutual Funds कंपनियों में निवेश करते रहना चाहिए लगातार अपना पैसा इन्वेस्ट करने में कोई परेशानी ना आए इसलिए Mutual Fund कंपनी अपने ग्राहकों को अनेक सुविधाएं देती है जैसे आप SIP के जरिए अपनी आवश्यकता के अनुसार कोई भी इन्वेस्टमेंट प्लान चुन सकते हैं और जब आपको कभी पैसे की आवश्यकता होती है तो अपने इन्वेस्टमेंट में से कुछ राशि या पूरी राशि निकाल सकते हैं इसके अलावा एक Mutual Fund स्कीम से पैसा निकाल कर दूसरे म्युचुअल फंड में अपना पैसा ट्रांसफर करके इन्वेस्टमेंट जारी रख सकते हैं|

हम आशा करते हैं कि आपको, हमारे द्वारा साधारण शब्दों में बताई गई यह जानकारी समझ आया आई होगी अगर फिर भी आपका कोई सवाल या सुझाव रह गया हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं|

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *