Support and Resistance

Support and Resistance | Basics | Technical Analysis |

Support and Resistance Trading

किसी भी शेयर में ट्रेडिंग करते समय उसके मूल्य का Support और Resistance ज्ञात करना बहुत ही महत्वपूर्ण कार्य है हमेशा शेयर मार्केट में शेयर की चाल 3 तरह से चली जाती है- कभी मार्केट Bull होता है ऊपर की ओर या कभी Bear मार्केट होता है नीचे की ओर, इसके अलावा कभी-कभी शेयर का दाम ना ही ऊपर जाता है और ना ही नीचे आता है केवल Side-way में चलता रहता है शेयर मार्केट में ज्यादातर लोग इसलिए असफल होते हैं क्योंकि चार्ट पर चलते हुए शेयर के दाम का अंदाजा लगाना मुश्किल होता है कि यह ऊपर जाएगा या नीचे जाएगा| अगर किसी शेयर में ट्रेडिंग करने से पहले उस शेयर पर फंडामेंटल एनालिसिस किया जाए तथा टेक्निकल एनालिसिस किया जाए तो हम उस शेयर के Support और Resistance को आसानी से समझ सकते हैं|

Support और Resistance की परिभाषा साधारण शब्दों में यह है कि जब मार्केट Bull होता है और किसी शेयर का दाम बढ़ता रहता है तब उस स्थिति में जिस पॉइंट या कीमत पर जाकर लोग वहां सबसे ज्यादा बिकवाली करेंगे और मार्केट नीचे गिरेगा उस पॉइंट या मूल्य को रेसिस्टेंट(Resistance) कहते हैं इसी प्रकार जब मार्केट Bear होता है और किसी शेयर का दाम लगातार नीचे की ओर गिरता चला जाता है तब वहां पर, वह पॉइंट या मूल्य जिस पर उस शेयर की गिरावट बंद हो जाएगी और जहां से उस शेयर में सबसे ज्यादा खरीदार आने लगेंगे उसी पॉइंट या मूल्य को उस शेयर का Support कहते हैं|

किसी भी शेयर या इंडेक्स का Support और Resistance निकालने के अन्य तरीके हैं जैसे कुछ लोग शेयर का फंडामेंटल एनालिसिस करके तथा उस शेयर की कंपनी के क्वार्टरली रिजल्ट को देखकर यह अंदाजा लगाते हैं कि आने वाले समय में इस शेयर का दाम कितना ऊपर या कितना नीचे जा सकता है| और कुछ लोग इंडिकेटर की सहायता लेते हैं इंडिकेटर के माध्यम से भी हम किसी शेयर के Support और Resistance को ज्ञात कर सकते हैं| जब कभी कोई शेयर की Support और Resistance को निकालता है तब यह संपूर्ण कार्य उस शेयर की Past  परफॉर्मेंस के आधार पर किया जाता है पिछले समय में शेयर के दाम में किस प्रकार परिवर्तन हुआ है उसी के आधार पर भविष्य की संभावनाओं को ज्ञात किया जाता है| अगर शेयर मार्केट में ट्रेडिंग करने से पहले उस शेयर की, जिसमें हम ट्रेडिंग कर रहे हैं, सही सपोर्ट और असिस्टेंट को ज्ञात कर लिया जाए तो हमें ट्रेडिंग करने में काफी आसानी होती है जैसे ही कोई शेयर का दाम अपने Resistance पर पहुंचता है तो वहां पर हम बिकवाली करते हैं और अगर किसी शेयर का दाम अपने Support को टच करता है तो वहां से हम खरीदारी करते हैं|

लेकिन इन सब बातों को समझने के बाद भी इस बात की कोई गारंटी नहीं दी जाती है कि शेयर का दाम Support को टच करने के बाद ऊपर ही जाएगा या Resistance को टच करने के बाद नीचे ही आएगा इस तरह की जानकारी केवल हमारी भविष्य की योजनाओं में निर्णय लेने में सहायता करती हैं इसलिए शेयर मार्केट में ट्रेडिंग या इन्वेस्टिंग करने से पहले आपको यह सलाह दी जाती है कि शेयर मार्केट का जितना भी हो सके ज्यादा से ज्यादा ज्ञान ले! और कंपनी का Fundamental and Techincal Analysis करना सीखें तब जाकर आप किसी कंपनी के शेयर का Support और Resistance निकाल सकते हैं  तथा भविष्य में ‘शेयर का दाम ऊपर या नीचे जा सकता है’ इस बात पर सही निर्णय ले सकते हैं|

हमें आशा है कि आपको हमारी पोस्ट के माध्यम से Support और Resistance में क्या अंतर होता है यह समझ आया होगा अगर फिर भी आपका कोई सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *